आर्थिक धोखाधड़ी में फंसने के कारण चली गई ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के राइटर की जान, अगर आपको भी आते हैं ऐसे मैसेज तो रहें सावधान

Abhishek Makwana Dies By Suicide Due To Cyber Fraud: ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ टेलीविजन के इतिहास में सबसे अधिक समय तक चलने वाले और सबसे अधिक देखे जाने वाले शो में से एक है। काफी सारे लोग कहते हैं कि अब इस सीरियल में पहले जैसा मजा नही है लेकिन असल बात तो यह है कि आज भी यह सीरियल कई अन्य धारावाहिकों से अच्छा है और इसे पूरा परिवार साथ बैठकर देख सकता है। इस सीरियल को सालों तक चलने का क्रेडिट सबसे अधिक इसके राइटर्स को जाता है जो आज भी सीरियल की इज्जत बनाये हुए हैं। लेकिन अगर आप तारक मेहता का उल्टा चश्मा के फैन हो तो शायद आपको यह जानकर झटका लग सकता है कि सीरियल के मुख्य लेखकों में से एक अभिषेक मकवाना सुसाइड कर चुके हैं।

Abhishek Makwana Suicide Case: 27 नवम्बर को किया अभिषेक मकवाना ने सुसाइड

बीते शुक्रवार 27 नवम्बर को अचानक से खबर आई कि तारक मेहता का उल्टा चश्मा के एक मुख्य लेखक अभिषेक का शव कांदिवली स्थित उनके घर में लटका हुआ पाया गया है। खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुची और उन्होंने केस को लेकर छान बिन शुरू कर दी। पुलिस ने ही मीडिया और अभिषेक के परिजनों को उनकी सुसाइड की खबर दी। अभिषेक के परिवार के लोगों के बयान भी पुलिस के द्वारा दर्ज कराए गए। बता दें कि पुलिस को अभिषेक के निवास स्थान से एक सुसाइडल नोट भी मिला जिसमें अभिषेक ने अपनी आत्महत्या का कारण लिखा है।

Abhishek Makwana Dies By Suicide

TMKOC Writer Suicide News: आर्थिक धोखाधड़ी में फंसने के कारण अभिषेक ने की है आत्महत्या

अभिषेक के भाई जेनिस ने हाल ही में पुलिस को एक बयान दिया है कि अभिषेक ने आर्थिक धोखाधड़ी में फंसने के कारण आत्महत्या की है। जेनिस ने बताया कि उन्होंने अभिषेक के ईमेल देखे जिसमें उन्हें अभिषेक के द्वारा एक एप से लोन लेने के बारे में कुछ जानकारी मिली। अभिषेक की मौत के बाद कई लोगों के फोन भी जेनिस के पास आये जिसमें उनसे बकाया राशि चुकाने की मांग की गई। जब जेनिस ने पैसे चुकाने से मना किया तो फ़ोन करने वाले लोगों ने उनसे अभद्र भाषा मे भी बात की। बता दें कि अभिषेक ने अपने सुसाइड नोट पर भी गुजराती में लिखा था कि वह आर्थिक समस्याओं से जूझने के कारण आत्महत्या कर रहे हैं।

Beware Of Cyber Fraud: इस तरह से किया गया फ्रॉड

जेनिस के द्वारा दिये बयान कि मानें तो अभिषेक को एक एप ने अपने चंगुल में फसाया था। इस एप ने अभिषेक को बिना मांगे थोड़े थोड़े पैसे भेजना शुरू किये। इसके बाद उनसे 30 फीसदी ब्याज रकम के साथ उसे लौटने की मांग की। ऐसा न करने पर कम्पनी ने उनकी सभी जानकारी उनके परिवार और दोस्तों तक पहुचाने कि धमकी दी। कम्पनी ने अभिषेक से कहा था कि अगर वह उनके पैसे नही देंगे तो उनके परिवार और दोस्तों से पैसे वसूले जाएंगे। जेनिस ने कहा था कि उन्हें जब इस प्रकार के फ़ोन आने लगे तो उन्होंने उनके भाई के ईमेल्स चेक किये। बाद में उन्होंने कम्पनी के बारे में जानकारी ली तो उन्हें पता चला कि इस कम्पनी पर कई जलसाझी के मामले दर्ज थे, और यह कम्पनी लोन में भी डूबी हुई थी। जेनिस ने अपने सभी दोस्तों और रिश्तेदारों को अवगत कराया है कि आप भी इस प्रकार की फ्रॉड कम्पनीयों से बचकर रहें।

Leave a Comment