Akshay Tritiya 2020: जानिए अक्षय तृतीया से जुड़ी खास बातें; पूजा और खरीदी के सबसे शुभ मुहूर्त

Akshay Tritiya, Akha Teej 2020: यह बात बिल्कुल साफ है कि भारत में सबसे अधिक त्योहार मनाए जाते हैं। कुछ त्योहार कुछ विशेषताओं में मनाते हैं तो कुछ त्यौहार पूरे देश में एक साथ मनाया जाता है। भारत में मनाया जाने वाला एक लोकप्रिय त्यौहार अक्षय तृतीया भी है। अक्षय तृतीया इस बार 26 अप्रैल को मनाई जाएगी। लेकिन कोरोनावायरस के कारण इस बार अक्षय तृतीया घर पर ही मनाई जाएगी। इस लेख में हम आपको अक्षय तृतीया से जुड़ी हुई कुछ खास बातें बताने वाले हैं।

अक्षय तृतीया 2020 शुभ मुहूर्त (Akshaya Tritiya Shubh Muhurat)

  • अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त – प्रातः 5: 45 बजे से दोपहर 12: 19 बजे तक, 26 अप्रैल 2020
  • अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का समय – रात 11: 51 बजे, 25 अप्रैल 2020 से प्रातः 05: 45 बजे तक, 26 अप्रैल 2020
  • अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का समय – प्रातः 5: 45 बजे से दोपहर 1: 22 बजे तक, 26 अप्रैल 2020

अक्षय तृतीया 2020 शुभ चौघड़िया मुहूर्त (Akshaya Tritiya Choghadiya Muhurat)

  • प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) – प्रातः 7: 23 बजे से दोपहर 12: 19 बजे तक
  • अपराह्न मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) – दोपहर 12: 19 बजे से शाम 5: 14 बजे तक
  • शाम मुहूर्त (लाभ) – शाम 6: 53 बजे से रात 8: 14 बजे तक
  • रात्रि मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) – रात 9: 36 बजे से रात 1: 40 बजे तक
  • उषाकाल मुहूर्त (लाभ) – प्रातः 4: 23 बजे से सुबह 5: 45 बजे तक
  • तृतीया तिथि प्रारम्भ – प्रातः 11: 51 बजे से, 25 अप्रैल 2020
  • अक्षय तृतीया तिथि समाप्त – अगले दिन दोपहर 01: 22 बजे तक, 26 अप्रैल 2020

अक्षय तृतीया गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त (Akshaya Tritiya Griha Pravesh Muhurat)

  • 25 अप्रैल 2020 (शनिवार)
  • नक्षत्र – रोहणी, तिथि – तृतीया, शुभ मुहूर्त – 25 अप्रैल रात 8.58 बजे से 26 अप्रैल सुबह 5.45 बजे तक

साल के सबसे शुभ दिनों में से एक!

अक्षय तृतीया धार्मिक मान्यताओं के अनुसार साल के सबसे शुभ दिनों में से एक होता है। तिथि के अनुसार मनाया जाने वाला यह त्यौहार काफी शुभ माना जाता है। इसकी तिथि को लेकर मान्यता है कि इस दिन किया गया कोई भी काम जरूर सफल होता है। कहा जाता हैं की अक्षय तृतीया के दिन बिना पंचांग देखे ही कोई भी शुभ कार्य किया जा सकता है। अक्षय तृतीया को अबूझ मुहूर्तो की तिथि में से एक माना गया है। अक्षय तृतीया सभी तरह के शुभ कार्य जैसे की वैवाहिक कार्यक्रम, धार्मिक अनुष्ठान, गृह प्रवेश आदि के लिए शुभ माना जाता है।

akha teej

इस साल कब मनाई जाएगी अक्षय तृतीया

अक्षय तृतीया को तिथि के अनुसार मनाया जाता है अतः यह हर साल अलग-अलग दिनों में मनाई जाती है। साल 2020 में अक्षय तृतीया 26 अप्रेल को मनाई जाएगी। कोरोना वायरस के कारण सरकार ने अक्षय तृतीया की पूजा-पाठ घर पर रहकर ही करने का निवेदन किया हैं। हालातों के हिसाब से भी घर पर रहकर पूजा करना ही श्रेष्ठ रहेगा। बता दें कि अक्षय तृतीया व्यापिनी तिथि और रोहिणी नक्षत्र के संयोग से इस बार 26 अप्रेल 2020 को मनाई जा रही है।

अक्षय तृतीया से जुड़ी खास मान्यताएं

अक्षय तृतीया भारतीय पंचांग की सबसे शुभ तिथियों में से एक होती है। अक्षय तृतीया से कई धार्मिक मान्यताए जुड़ी हुई हैं। कहा जाता है कि सतयुग और त्रेतायुग की शुरुआत भी अक्षय तृतीया की तिथि से ही हुई थी। मान्यताओं के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन ही वेदव्यास जी ने महाभारत ग्रन्थ लिखना शुरू किया था। अक्षय तृतीया के दिन ही गंगा भगीरथ के प्रयास से शिव जी की जटा से जमीन पर आयी थी। भारतीय संस्कृति के भगवान परशुराम का जन्म भी अक्षय तृतीया के दिन ही मनाया जाता है।

जानिए क्या है अक्षय तृतीया का महत्व

जब भारतीय पंचांग की शुभ तिथियों की बात आती है तो अक्षय तृतीया का महत्व सबसे अधिक है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन जो भी काम शुरू किया जाता है वह जरूर सफल होता है। भारत में अक्षय तृतीया का व्रत भी किया जाता है। भारतीय ग्रंथों के अनुसार माता पार्वती ने यह व्रत भगवान शिव के साथ खुशहाली से रहने के लिए किया था।

Akshaya Tritiya के दिन भूलकर भी न करें ये काम

  1. अक्षय तृतीया के दिन किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहिए।
  2. अक्षय तृतीया के दिन किसी भी तरह का गलत कार्य करने से बचने चाहिए।
  3. अक्षय तृतीया को पूरे दिन सादा भोजन करना चाहिए, और व्रत के नियमों का पालन करना चाहिए।

Leave a Comment