Wednesday, September 30, 2020
Home लाइफस्टाइल धर्म और आस्था Bahula Chaturthi 2020: क्या है बहुला चतुर्थी, किस वजह से किया जाता...

Bahula Chaturthi 2020: क्या है बहुला चतुर्थी, किस वजह से किया जाता है इसका व्रत, जानिए पूजा विधि और व्रत कथा!

Bahula Chaturthi 2020: भारत में बहुला चतुर्थी को लेकर काफी मान्यतायें प्रचलित हैं। भारतीय पंचांग के अनुसार भाद्रपद कृष्ण चतुर्थी तिथि के दिन बहुला चतुर्थी मनाई जाती है। बहुला चतुर्थी को भारतीय संस्कृति में माता और सन्तान के प्रेम का प्रतीक माना जाता है। बहुला चतुर्थी को लेकर एक मान्यता यह है की इस दिन माता अपने सन्तान की सुरक्षा के लिए व्रत रखती हैं।

संतान को शनि के कोप से बचाने के लिए किया जाता है व्रत

बहुला चतुर्थी का व्रत उन अभिभावकों के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता हैं जिनकी सन्तान पर शनि शनि की साढे़साती और शनि की ढैया चल रही हो। मान्यता है कि बहुला चतुर्थी का व्रत करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और उनका कोप शांत होता है। स्वास्थ्य खराब होने पर सन्तान से भी यह व्रत कराया जाता है।

गायों को अपने हाथों से खिलाया जाता है हरा चारा

बहुला चतुर्थी के दिन सनातन संस्कृति में गाय को विशेष महत्व दिया है। इस दिन गाय को अपने हाथों से हरा चारा खिलाया जाता हैं। मान्यता है कि बहुला चतुर्थी के दिन गाय को हरा चारा खिलाने से घर में समृद्धि आती है। बहुला चतुर्थी का दिन गौ सेवा पर ही आधारित होता है। इस दिन गौशालाओं में गायो को विशेष आहार भी दिया जाता है।

इस तरह से किया जाता है बहुला चतुर्थी का व्रत

बहुला चतुर्थी का व्रत करने के लिये किसी भी तरह के अन्न और चावल से बने भोजन का सेवन नहीं करना चाहिये। इसके अलावा गाय का दूध या दूध से बने पदार्थ भी ग्रहण नहीं करने चाहिए। इसके बाद में सांझ के समय पर भगवान गणेश, शेर, गाय और उसके बछड़े की मिट्टी की प्रतिमा बनाकर उनकी पूजा की जाती हैं।

Also Read  Akshay Tritiya 2020: जानिए अक्षय तृतीया से जुड़ी खास बातें; पूजा और खरीदी के सबसे शुभ मुहूर्त
Also Read  Surya Grahan 2020: कल लग रहा है सूर्य ग्रहण, जानिए सभी 12 राशियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा

जो खाद्य सामग्री और पकवान घर में बनाये जाते है वही गौ माता को प्रसाद स्वरूप चढाये जाते हैं। इसके अलावा सत्तू को भी प्रसाद स्वरूप चढ़ाया जा सकता है। प्रसाद चढ़ाने के बाद गौ माता की पूजा की जाती है और वह प्रसाद व्रत करने वाली महिला ग्रहण करती है। रात के समय में भगवान गणेश, चंद्रमा, एवं चतुर्थी माता को अर्घ्य दिया जाता है।

क्या है बहुला चतुर्थी का महत्व?

बहुला चतुर्थी के व्रत को रखने के पीछे एक कथा बहुत प्रचलित है। जब भगवान विष्णु ने श्रीकृष्ण के रूप में अवतार लिया था तब  कामधेनु गाय भी श्रीकृष्ण की सेवा करने के लिए बहुला बनकर उनके पास पहुच गयी थी। श्रीकृष्ण बहुला को पहचान गए थे। श्रीकृष्ण ने बहुला की परीक्षा लेने की सोची।

एक बार बहुला वन में थी, तब श्रीकृष्ण ने एक सिंह का अवतार धारण कर लिया और बहुला (कामधेनु गाय) को पकड़ लिया। बहुला ने सिंह से विनम्रतापूर्ण विनती की ‘हे वनराज, में अपने बच्चे को दूध पिलाकर वापस आउंगी और आपका आहार बन जाउंगी’। तब सिंह रूप में श्रीकृष्ण ने कहा कि ‘अगर तुम वापस नहीं आयी तो मैं भूखा रह जाऊंगा’।

तब बहुला ने सत्य की शपथ ली। वह अपने बछड़े के पास गयी और उसे दूध पिलाकर वापस आने लगी। अपने बच्चे से मोह होने के बाद भी वह सत्य के मार्ग पर चलती रही। श्रीकृष्ण बहुला से अति प्रसन्न हुए और उसे आशीर्वाद दिया की अब हर भाद्रपद कृष्ण चतुर्थी को उसकी पूजा होगी। इसी कारण से बहुला चतुर्थी को गौ माता की पूजा की जाती है।

Also Read  Parshuram Jayanti 2020 Date & Tithi: जानें भगवान परशुराम से जुड़ी खास बातें और पूजा मुहूर्त!
Akshat Jain
Akshat Jainhttps://newsraja.news/
A Great Contributor and Author, Akshat always passionate about his work and always try to give the best. he is keen to learn new things and implement them honestly. He has good experience in Content writing and can write in each and every topic in detail.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Protect Yourself From Banking Scams: फर्जी व्हाट्सएप कॉल और मैसेज से SBI ने किया ग्राहकों को सावधान, छोटी सी गलती पड़ सकती है भारी

SBI Warns Customers To Fake Calls, Messages: पिछले कुछ सालों में बैंकिंग सेक्टर में काफी बदलाव आया है। डिजिटल माध्यमों से अपने घर बैठे...

Hathras Rape Case: कौन है मनीषा वाल्मीकि और सोशल मीडिया पर क्यों हो रहा है #JusticeForManisha ट्रेंड?

Hathras Rape Case: उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में 19 साल की गैंगरेप पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत होनेे के बाद...

JEE Advanced 2020 Answer Key: कब आएगा जेईई एडवांस का रिजल्ट; jeeadv.ac.in से कैसे डाउनलोड करें क्वेश्चन पेपर की ‘आंसर की’!

JEE Advanced 2020 Answer Key, Result, Counselling, Merit List: कोरोनावायरस के फैलाव को रोकने के लिए लगे लॉकडाउन की वजह से अन्य परीक्षाओं के...

Recent Comments

x