Baisakhi 2020 Wishes & Messages: क्यों मनाया जाता है बैसाखी का त्यौहार, जाने पर्व तिथि व मुहूर्त

Baisakhi Wishes & Messages 2020: भारत की सबसे विशेष बात यह है कि यहां पर एक नहीं बल्कि कई संस्कृति और सभ्यता रहती है। इसी वजह से भारत में हर साल सैकड़ों पर्व भी मनाया जाते हैं। भारत में सभी जाति के त्योहारों को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है भले ही वह मुसलमानों की ईद हो या फिर हिंदुओं की दिवाली। ऐसा ही एक उत्साहित कर देने वाला त्यौहार बैसाखी है। सिक्खों के लिए बैसाखी का त्यौहार काफी खास होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बैसाखी का त्यौहार क्यों मनाया जाता है?

Baisakhi 2020 Date

बैसाखी का पर्व इस साल 13 अप्रैल, सोमवार (13 April, Vaisakhi 2020) को मनाया जायेगा।

Baisakhi 2020 Wishes & Messages

क्यों मनाया जाता है वैसाखी?

बैसाखी (Baisakhi) भारत ही नहीं बल्कि पूरे देशों में जहां भी सिक्ख रहते हैं वहा बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता हैं। सिखों के ग्रंथों के अनुसार बैसाखी वही दिन है जिस दिन गुरु गोविंद सिंह ने खालसा पंथ की स्थापना की थी। यानी कि इस दिन एक संप्रदाय को अपनी एक अलग पहचान मिली थी और यह पहचान आज तक बनी हुई है। गुरु गोविंद सिंह सिखों के दसवें गुरु थे जिन्होंने खालसा पंथ की स्थापना की थी। साल 1699 में  आनन्दपुर साहिब में खालसा पंथ की शुरुआत की गयी थी। इसी दिन से हर साल इस दिन बैसाखी मनाया जाती हैं।

यह त्यौहार सिक्कों के लिए तो खास है ही लेकिन साथ में भारत में कई अन्य संप्रदाय इस त्यौहार को काफी धूमधाम से मनाते हैं। हिंदू धर्म में बैसाखी को लेकर अपनी एक अलग ही मान्यता है। हिंदू धर्म के अनुसार हजारों सालों पहले शिव भगवान की कृपा से गंगा बैसाखी के दिन ही धरती पर प्रकट हुई थी। हिंदू धर्म के इस मान्यता के कारण इस दिन गंगा में स्नान करना शुभ माना जाता हैं।

वैशाखी (Baisakhi) को एक प्रमुख कृषि पर भी माना जाता है। देश के कई इलाकों में इस दिन फसल पक कर तैयार हो जाती है और इसके लिए किसान जश्न मनाते हैं। फसल के पकने पर किसान परिवारों में खुशी का माहौल रहता है और हर जगह जश्न मनाए जाते हैं। भारत के सबसे हरियाली से भरे राज्यों में से एक असम में भी इस पर्व को काफी धूमधाम से मनाया जाता है। असम में भी इस समय कई मुख्य फसलें पककर कटाई के लिए तैयार हो जाती है।

यह त्योहार सिक्कों के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है और इस दिन हर एक सिख परिवार के घर में और गुरुद्वारों में आनंद का माहौल रहता है। बैसाखी के दिन गुरुद्वारों को भी जमकर सजाया जाता है लेकिन इस बार कोरोनावायरस की वजह से सरकार ने लोगों से घर पर ही रह कर इस त्योहार का जश्न मनाने का निवेदन किया है। क्योंकि अगर इस संकट के समय में लोग एक साथ इकट्ठा होते हैं तो यह बीमारी और भी ज्यादा बढ़ जाएगी।

Baisakhi 2020 Wishes & Messages

Baisakhi 2020 Wishes & Messages

सुनहरी धूप बरसात के बाद, थोड़ी सी ख़ुशी हर बात के बाद,
उसी तरह हो मुबारक आपको, ये नई सुबह कल रात के बाद।
Happy Baisakhi 2020

खालसा मेरो रूप है खास, खालसे में करूं निवास,
खालसा मेरा मुख है अंगा, खालसे के साजना दिवस बैसाखी की आप सब को बधाई।

बैसाखी आई, साथ में ढेर सारी खुशियां लाई,
तो भंगड़ा पाओ, और सब मिलकर खुशी मनाओ।
Happy Baisakhi 2020

बैसाखी का खुशहाल मौका है, ठंडी हवा का झोंका है,
पर तेरे बिन अधूरा है सब, लौट आओ हमने खुशियों को रोका है।
बैसाखी की ढेर सारी बधाई। Happy Baisakhi 2020

खुशिया हो OverFlow,
मस्ती कभी न हो Low,
अपना सुरूर छाया रहे,
दिल में भरा प्‍यार रहे,
शोहरत की हो बौछार,
ऐसा आए आपके लिए बैसाखी का त्योहार
Happy Baisakhi 2020

अन्नदाता की खुशहाली और समृद्धि के पर्व बैसाखी पर आप सभी को
ढेर सारी शुभकामनाएं और बधाइयां Happy Baisakhi 2020

एस एम एस भेजण दा नहीं सी शौंक साणूं तेरी याद ने मोबाइल फड़ा दित्ता
मैसेज लिखदे लिखदे स्पेस मुक्की अस्सी ओवरराइट अलाउड ला दित्ता
यारा मेरेया मैसेज रिप्लाइ करीं अस्सी अपणा फर्ज निभा दित्ता
हैप्पी बैसाखी 2020

Mere Dostan te Saheliyon nu,
Mere verre te parjaya nu,
Mere peena te jijeyan nu,
Mere walo vaisakhi di lakh lakh wadhaayi hove ji, Happy Baisakhi 2020

Aj Vaisakhi di eh shubh Kaddi
tuhade te tuhade parivar waste khushiyan
te Hasse da amber lagade Happy Baisakhi 2020

ना ले, गा ले हमारे साथ
आई है बैसाखी खुशियों के साथ
मस्ती में झूम और खीर-पूरे खा
और ना कर तू दुनिया की परवाह
बैसाखी की हार्दिक शुभकामनाएं

Leave a Comment