Budaun Gang Rape Case: बदायूं गैंग रेप, आरोपी शातिर महंत सत्यनारायण गिरफ्तार, जानिए केस से जुड़ी पूरी घटना!

Budaun Gang Rape: उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में गैंगरेप के बाद हत्या की वारदात सामने आई है। दरअसल यूपी के बदायूं जिले में मंदिर गयी एक महिला के सामूहिक बलात्कार (Budaun Gang Rape) के बाद उसकी हत्या कर दी गयी। इस घटना के बाद बदायूं जिले की पुलिस की भूमिका पर सवाल भी उठाए गए हैं। इसके बाद मामले में मुख्य आरोपी महंत सत्यनारायण को पुलिस हिरासत में ले लिया गया है। इसके अलावा यह भी पता चला है कि वारदात वाले दिन शातिर आरोपी गांव में छिपा हुआ था। पुलिस द्वारा दो अन्य आरोपी वेदराम और जसपाल को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। मुख्य आरोपी 3 जनवरी की रात आंगनवाड़ी सहायिका से गैंगरेप के बाद हत्या की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गया था। महंत सत्यनारायण की तलाश में पुलिस की टीम लगी हुई थी और बदायूं के अलावा कई दूसरे जिलों और प्रदेशों में महंत की तलाश के छापेमारी भी कर रही थी।

Budaun Gang Rape Case: महिला आयोग की सदस्य ने दिया मामले में निंदनीय बयान 

महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी ने ऐसा बयान दिया कि वह देश की जनता की निंदा का शिकार बन गयी। लोग उनके बयान की आलोचना कर रहे हैं और कह रहे हैं कि महिला आयोग की सदस्य को इस तरह के बयान नहीं देने चाहिए। गुरुवार के दिन पीड़ित परिवार की महिला आयोग से मुलाकात हुई। इसके बाद आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी ने कुछ ऐसा बयान दिया कि वह लोगो की आलोचना की शिकार बन गयी।

बदायूं गैंग रेप: क्या कहा महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी ने? 

पीड़ित परिवार से मिलने के बाद चंद्रमुखी देवी ने बयान दिया कि ‘यह घटना पहले से ही प्लान की गई थी। महिला को फ़ोन करके बुलाया गया था। अगर महिला शाम के समय बाहर नहीं जाती या परिवार के किसी सदस्य या बच्चे को साथ ले जाती, तो ऐसी दुर्घटना नहीं होती’। बता दें कि महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी ने गुरुवार को बदायूं पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी, और घटना स्थल के आसपास के अधिकारियों के साथ बैठक करके पूरी जानकारी ली। जिसकर बाद उन्होंने यह बयान दिया जो उनके लिए देश भर से आलोचनाएं खींचकर लाया।

Budaun Gang Rape

अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी जताई चंद्रमुखी देवी के बयान से असहमति

महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने जब चंद्रमुखी देवी का यह बयान सुना तो उन्होने भी अपनी सहभागी चंद्रमुखी देवी के इस बयान से असहमति जताई। रेखा शर्मा ने कहा कि ‘सामूहिक दुष्कर्म और हत्या की वारदातें बढ़ रही हैं। इन मामलों पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए’। उन्होंने आगे पुलिस अधिकारियों को लेकर कहा कि ‘मैं पुलिस की भूमिका से संतुष्ट नही हूँ और अगर समय रहते कार्यवाही की जाती तो इस प्रकार की घटना नहीं होती’। उन्होंने यह भी कहा कि ‘महिला बेहोशी के स्थिति में थी और ऐसे में सही समय पर इलाज मिल जाता तो उसकी जान बच जाती। इतना ही नहीं बल्कि पोस्टमार्टम में भी विलम्ब किया गया’।

Leave a Comment