Wednesday, September 30, 2020
Home बिज़नेस & फाइनेंस Corona Kavach Policy: जानिए क्या है 'कोरोना कवच पॉलिसी' और इसमें आपको...

Corona Kavach Policy: जानिए क्या है ‘कोरोना कवच पॉलिसी’ और इसमें आपको क्या-क्या सुविधाएं मिलेंगी

Corona kavach Policy: जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आम जनता से लेकर सुपरस्टार अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन और ज्योतरादित्य सिंघिया जैसी हस्तियों की covid-19 की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। सभी क्षेत्रों के लोग कॉरोना से संक्रमित हो रहे हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां हैं या आप क्या कर रहे हैं। सबसे जरूरी बात यह है कि कोरोनावायरस का इलाज बहुत महंगा है। देश के ज्यादातर लोग इसका खर्च नहीं उठा सकते हैं। विशेषज्ञों ने सुझाव दिया है कि ऐसे में एक विशेष स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेना बेहतर है, ताकि लोगों को अस्पताल के खर्चों के बारे में चिंता न करनी पड़े।

इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए  IRDAI के अनिवार्य आदेश के बाद बीमा कंपनियों ने 10 जुलाई से स्पेशल इंस्योरेंस पॉलिसी ‘कोरोना कवच पॉलिसी’ शुरू की है। 26 जून को इंस्योरेंस रेगुलेटर ने इन कोरोना कवच पॉलिसी के लिए कुछ निर्देश जारी किए हैं।

क्या है इसका कार्यकाल

कोविड स्टैंडर्ड हैल्थ पॉलिसी प्रतीक्षा अवधि सहित साढ़े तीन महीने, साढ़े 6 महीने और साढ़े 9 महीने की रखी जा सकती है।

जानिए इसका मूल्य निर्धारण

इनके प्रीमियम पूरे देश में एक समान होने चाहिए। भौगोलिक स्थिति के हिसाब से इन बीमा उत्पादों के लिए अलग अलग प्रीमियम नहीं हो सकते हैं।

क्या है न्यूनतम और अधितम बीमित राशि

स्टैंडर्ड कोविद इंस्योरेंस पॉलिसी 50 हज़ार रुपए से 5 लाख रुपए तक के बीच हो सकती है।

कवर की श्रेणी

स्टैंडर्ड कोविड-19 हैल्थ पॉलिसी का बड़े कवर सुरक्षा आधार पर पेश किया जाएगा। जबकि वैकल्पिक कवर लाभ के आधार पर उपलब्ध कराया जाएगा।

Also Read  SBI ने लोन मोराटोरियम अवधि 3 महीने और बढ़ाई, जानिए कैसे मिलेगा इसका फायदा?
Also Read  SBI ने लोन मोराटोरियम अवधि 3 महीने और बढ़ाई, जानिए कैसे मिलेगा इसका फायदा?

जानिए इसकी आयु सीमा

इस पॉलिसी को खरीदने के लिए एक वयस्क एक न्यूनतम उम्र 65 वर्ष रखी गई है। वहीं बच्चे के लिए न्यूनतम उम्र एक दिन और अधिकतम उम्र 25 वर्ष रखी गई है।

इस पॉलिसी की लाभ संरचना

आवेदन पत्र के प्रारूप (IRDAI-UNF-SCHP) के साथ संबंधित अन्य डॉक्युमेंट्स के साथ स्पष्ट रूप से दिए गए लाभ का खुलासा किया जाना चहिए।

अंडराइटिंग

बीमाकर्ताओं को गैर चिकित्सा सीमा और उससे जुड़ी जानकारी बतानी होगी। साथ ही, स्वास्थ्य कर्मियों को प्रीमियम में 5 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

नवीनीकरण, पोर्टेबिलिटी और माइग्रेशन

इन पॉलिसीज पर आजीवन नवीनीकरण, माइग्रेशन और पोर्टेबिलिटी लागू नहीं होंगे।

सहरुग्न परिस्थितियां

पॉलिसी में उपचार के साथ साथ पहले से मौजूदा सहरुग्न परिस्थितियों के इलाज़ का खर्च भी शामिल होगा।

NewsRaja Team
NewsRaja Teamhttps://newsraja.news/
With a dedicated team, we are here for you and would like to connect with our Readers to have a conversation, criticization, and gradually assist you to gain what you wish.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Protect Yourself From Banking Scams: फर्जी व्हाट्सएप कॉल और मैसेज से SBI ने किया ग्राहकों को सावधान, छोटी सी गलती पड़ सकती है भारी

SBI Warns Customers To Fake Calls, Messages: पिछले कुछ सालों में बैंकिंग सेक्टर में काफी बदलाव आया है। डिजिटल माध्यमों से अपने घर बैठे...

Hathras Rape Case: कौन है मनीषा वाल्मीकि और सोशल मीडिया पर क्यों हो रहा है #JusticeForManisha ट्रेंड?

Hathras Rape Case: उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में 19 साल की गैंगरेप पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत होनेे के बाद...

JEE Advanced 2020 Answer Key: कब आएगा जेईई एडवांस का रिजल्ट; jeeadv.ac.in से कैसे डाउनलोड करें क्वेश्चन पेपर की ‘आंसर की’!

JEE Advanced 2020 Answer Key, Result, Counselling, Merit List: कोरोनावायरस के फैलाव को रोकने के लिए लगे लॉकडाउन की वजह से अन्य परीक्षाओं के...

Recent Comments

x