कोरोना पर रोक के लिए दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, बसों में शुरू होगा ई-टिकटिंग का सिस्टम, ऐसे बुक कर सकते हैं टिकट!

Delhi Govt To Begin e-ticketing System: दिल्ली में अमित शाह की नई कोरोना नीति के बदौलत हालात थोड़े सुधर रहे है। लेकिन दिल्ली सरकार हालातों को थोड़ा और बेहतर बनाने के लिए कई प्रयास कर रही है। दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग ने हाल ही में डीटीसी और क्लस्टर बसों में ई-टिकटिंग शुरू करने का फैसला लिया है। दिल्ली परिवहन विभाग का मानना है कि परिवहन को कॉन्टेक्टलेस बनाकर कोरोना वायरस को फैलने से काफी हद तक रोका जा सकता है।

5 अगस्त से हुए ई-टिकटिंग का ट्रायल शुरू

दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग की तरफ से प्राप्त जानकारी के अनुसार 5 अगस्त से परिवहन विभाग रूट नंबर 473 की सभी क्लस्टर बसों में 3 दिन के लिए ई-टिकटिंग का ट्रायल शुरू कर दिया गया है। परिवहन विभाग ने इस दौरान इन बसों से सफर करने वाले यात्रियों से ऑनलाइन टिकट बुक करने की सिफारिश की है।

अगर ट्रायल सफल होता है तो जल्दी दिल्ली की सभी डीटीसी और क्लस्टर बसों में ईटिकटिंग की सुविधा देखने को मिलेगी। यात्री अपने मोबाइल पर चार्टर (Chartr) एप्लीकेशन डाउनलोड करके दिल्ली परिवहन विभाग की बसों की ऑनलाइन टिकट बुक कर सकेंगे।

ट्रायल के दौरान एक टीम यात्रियों के रिएक्शन का निरक्षण करेगी। यात्रियों को बाधा न हो इसलिए रूट पर चलने वाली सभी बसों में हिंदी एयर अंग्रेजी भाषा में 6 पोस्टर लगाए गए है। बस की सभी सीटों के पीछे QR Codes भी लगाए गए है।

जानिए ई-टिकटिंग से क्या होगा फायदा

दिल्ली परिवहन विभाग की बसों में दिखने वाली इस नई सुविधा के फायदों के बारे में पूछने पर परिवहन विभाग के मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि ‘यात्रियों और कंडक्टरों के बीच ज्यादा से ज्यादा दूरी सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार अपनी बसों के लिए ई-टिकटिंग प्रणाली यानी कॉन्टैक्टलेस टिकट सिस्टम शुरू करने की योजना बना रही है, ताकि इसकी वजह से कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके’।

सरल भाषा में कहा जाए तो दिल्ली की बसों में ईटिकटिंग की सुविधा उपलब्ध होने पर कंडक्टर और यात्रियों में निश्चित दूरी बनी रहेगी। इससे बस यात्रियों के द्वारा वायरस के फैलने का खतरा कम हो जाएगा। क्योंकि यात्रियों और कन्सक्टर में पैसो और टिकट के आदान-प्रदान के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नही हो पाता है।

Book Delhi Bus E-Ticket

कैसे होगी टिकट बुक?

कोरोनावायरस से बचने के लिए दिल्ली में लागू की जा रही इस नई सुविधा में इंद्रप्रस्थ इंस्टिट्यूट ऑफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (IIIT, Delhi) दिल्ली सरकार की मदद कर रहा है। दरअसल संस्थान ने परिवहन विभाग के लिए एक नया एप्लीकेशन तैयार किया है जिसका नाम Chartr App है। Chartr एप्प की सहायता से यात्री टिकट की कीमत या चढ़ने-उतरने वाले स्टॉप के विकल्प को चुन कर ई-टिकट ले सकते हैं।

इस एप्लीकेशन के प्रचार के लिए 1 अगस्त से ही परिवहन विभाग ने ट्रायल रुट की बसों में पोस्टर चिपकाना, अनाउंसममेंट आदी करना शुरू कर दिया था। यह ई-टिकटिंग सिस्टम एक ऍप्लिकेशन इंटरफ़ेस होगा जिसे PhonePe, PayTm, Ola और Uber जैसे एप्लीकेशन्स के माध्यम से जोड़ा जा सकेगा।

Leave a Comment