Depression: क्यों होता है डिप्रेशन, जानिए अवसाद के कारण, लक्षण और इलाज!

Depression Symptoms and How to Prevent from it: पिछले कुछ दिनों बॉलीवुड के जाने माने सुपरस्टार सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने हर किसी को झकझोर दिया है। बताया जा रहा है कि वह लम्बे समय से डिप्रेशन का शिकार थे। वो हमेशा हॅसमुख स्वभाव के थे और कभी भी उनके चेहरे से इस बात का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता था कि वह किसी परेशानी से गुजर रहे हैं। डिप्रेशन एक मानसिक स्तिथि है जिसका कभी न कभी हर किसी को सामना करना पड़ता है। निजी समस्या हो या घरेलु प्रॉब्लम डिप्रेशन के कई अन्य कारण भी हैं। वैज्ञानिक शोध और रिसर्च के आधार पर डिप्रेशन से पीड़ित व्यक्ति में कुछ खास लक्षण होते है, जिनके कारण और लक्षण नीचे दिए गए हैं।

क्या है डिप्रेशन? 

डिप्रेशन एक ऐसी परिस्तिथि है जिसमें लोग उलझ जाते हैं और फिर उससे बहार निकलना उनके लिए कठिन हो जाता है। इस कंडीशन में व्यक्ति के हार्मोन में बदलाव आने लगते हैं। और लोग चाह कर भी खुश नहीं रह पाते हैं। डिप्रेशन उन लोगों को ज्यादा  होता है जो किसी बड़ी परेशानी से जूझ रहे हों या फिर जिनकी जिंदगी में कोई बहुत बड़ी घटना हुई हो।

क्या हैं डिप्रेशन के कारण?

  • पारिवार की समस्याएं।
  • रिलेशनशिप की समस्याएं।
  • माता-पिता की उम्मीदों पर खरा न उतर पाना।
  • पढाई और नौकरी में असफलता।
  • किसी काम में उम्मीद के मुताबिक सफलता न मिल पाना।
  • कर्ज में डूबने की स्थिति।
  • हॉर्मोन्स में बदलाव और किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होना।

डिप्रेशन के लक्षणों को तीन वर्गों में बाटा गया है

डिप्रेशन से ग्रसित व्यक्ति में साइकोलॉजिकल, फिजिकल और सोशल सिप्टम्स दिखाई पड़ते हैं।

  1. साइकोलॉजिकल लक्षण में व्यक्ति दुखी और असहाय महसूस करता है और किसी भी चीज के लिए अपने आप को दोषी मानने लगता है।
  2. फिजिकल सिम्टम्स की बात करें तो व्यक्ति थका हुआ महसूस करता है वह काफी धीरे बोलकर बात करता है और वह नींद में भी बदलाव महसूस करता है और और वह देर रात तक जगते रहता है।
  3. सोशल सिम्टम्स की बात करें तो ऐसे व्यक्ति दोस्तों और अन्य लोगों के संपर्क में आने से डरते हैं, और सामाजिक एक्टिविटी में भी हिस्सा नहीं लेते हैं। कुछ लोग तो अपने फैमिली के साथ समय बिताने में भी असहजता महसूस करते हैं।

क्या हैं डिप्रेशन के लक्षण?

इसके अलावा नीचे कुछ विशेष प्रकार के डिप्रेशन के लक्षणों को डिटेल में बताया गया है:

  • हमेसा उदास रहना।
  • अकेलापन।
  • बहुत ज्यादा गुस्सा।
  • व्यक्ति को यह याद नहीं रहता कि वह आखिरी बार खुश कब थे।
  • बिस्तर से उठने या नहाने जैसी डेली रुटीन की चीजों को भी उनको टास्क लगने लगती हैं।
  • अपने लोगों से कटने लगते हैं।
  • व्यक्ति खुद से नफरत करता हैं और अपने आप को खत्म कर लेना चाहता है।
  • ऐसा महसूस होता है जैसे कि कुछ भी ठीक नहीं हो रहा।
  • ज्यादातर समय सिरदर्द रहना।

जानें डिप्रेशन का इलाज क्या है 

डिप्रेशन से ग्रसित व्यक्ति को सबसे पहले किसी सायकाइट्रिस्ट या मनोचिकित्सक के पास जाना चाहिए उनसे सलाह लें और बताई गई दवाओं का नियमित रूप से सेवन करें। इसके अलावा कुछ अन्य तरीके भी हैं जो आजमा सकते हैं:

  • डिप्रेशन दूर करने के लिए रोजाना आठ घंटे की नींद लें। इससे दिमाग तरोताजा होगा और नकारात्मक भाव मन में नहीं आएंगे।
  • डिप्रेशन दूर करने के लिए रोजाना सूरज की रोशनी में कुछ देर बैठें।
  • बाहर टहलने की आदत डालें और दोस्तों से बातें करें।
  • प्रति दिन योग और मैडिटेशन को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

Leave a Comment