केंद्र सरकार की नई Doorstep Banking Service, अब घर बैठे मिलेगी सारी बैंकिंग सुविधाएं

Doorstep Banking Service: मोदी सरकार के द्वारा किये गए सबसे बेहतरीन कामों में से एक सभी लोगों को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ना भी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल की शुरुआत में ही जन धन योजना (PM-Jan Dhan Yojana) को शुरू कर दिया था जिसके अंतर्गत उन्होंने बैंकिंग सुविधाएं मुहैया करवाई थी। इस योजना के जरिये करोड़ों लोग बैंकिंग सुविधाएं से जुड़े। साधारण आदमी तक बैंकों  की पहुच बनाने के लिए अब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को डोर-स्टेप बैंकिंग सर्विस (Doorstep Banking Service) की शुरुआत की है। इस सेवा के माध्यम से लोगों को घर बैठे बैंक की सभी सुविधाएं (Banking Services) आसानी से मिल सकेगी।

क्या है डोर-स्टेप बैंकिंग सर्विस?

भारत के नेशनल बैंक ‘भारतीय रिजर्व बैंक’ (Reserve Bank Of India) ने कुछ साल पहले डोर-स्टेप बैंकिंग सर्विस की शुरुआत की थी। अब कुछ पब्लिक सेक्टर बैंक साथ मिलकर कॉमन सर्विस प्रोवाइडर के जरिये ग्राहकों को बैंकिंग सेवाएं देने जा रहे हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने सरकारी बैंकों की डोर-स्टेप सर्विस की घोषणा कर दी है। इस योजना के जरिये नागरिक घर बैठे ही पैसा जमा करना, पैसा निकालना, चैक जमा करना समेत अनेकों काम आसानी से कर सकेंगे। वैसे तो इन सुविधाओं का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को कुछ चार्ज जरूर देने होंगे लेकिन यह उन लोगों के लिए काफी लाभदायक रहेगी जिन्हें बैंक जाना कोई खास पसन्द नहीं है।

Doorstep Banking Service Launched In India Know All Benefits And Banking Facilities

अब सभी लोगों के लिए उपलब्ध होगी डोर-स्टेप बैंकिंग

पहले कहा जा रहा था कि यह सेवाएँ केवल व्रद्ध लोगों के लिए और विकलांग लोगों के लिए होगी जो बैंक नहीं जा सकते हैं। लेकिन अब सामान्य नागरिकों के लिए भी इन सेवाओं को उपलब्ध करवाया जाएगा। इसका इस्तेमाल सार्वजनिक बैंकों के ग्राहक वेब पोर्टल, मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन और कॉल बैंकिंग (कॉल सेंटर) के माध्यम से कर सकेंगे। यह सेवाएँ बैंकों के एजेंट्स के जरिये चलाई जाएगी। अभी तक यह कन्फर्म नहीं है कि एजेंट्स को सैलरी दी जाएगी, या काम के हिसाब से कमीशन पर रखा जाएगा।

Doorstep Banking Service Launched In India Know All Benefits And Banking Facilities

कब से शुरू होगी डोर-स्टेप बैंकिंग (Doorstep Banking Service)?

डोर स्टेप बैंकिंग (Doorstep Banking Service) के जरिये ग्राहक नॉन फाइनेंसियल सर्विज जैसे की चेक, डिमांड ड्राफ्ट, पे-आर्डर जैसी सुविधाओं के साथ पैसों की लेन-देन से जुड़ी फाइनेंसियल सुविधाओं का लाभ भी उठा सकेंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन के अनुसार डोर स्टेप बैंकिंग सेवा (Doorstep Banking Service) अगले महीने से शुरू कर दी जाएगी। बैंकिंग सुविधाओं का लाभ उठाने वाले कोई भी ग्राहक कुछ सामान्य चार्ज पर इन सेवाओं का लाभ उठा सकेगा। यानी कि अगले महीने से डोर स्टेप बैंकिंग सेवाओं के जरिए नागरिक अपने घर बैठे ही बैंकिंग सुविधाओं (Banking Facilities) का लाभ जैसे कि पैसे निकलवाना, जमा करना, डिमांड ड्राफ्ट, पे आर्डर और चेक आदि सुविधाओं का लाभ आसानी से उठा सकेंगे।

इतना ही नहीं बल्कि डोर स्टेप बैंकिंग सेवाओं के जरिये एफडी (Fixed Deposit) के ब्‍याज पर लगने वाला टैक्‍स बचाने के लिए जमा किए जाने वाले फॉर्म-15G व 15H, इनकम टैक्स (Income Tax) या जीएसटी (Goods & Service Tax) चालान जमा करने जैसी सुविधाओं का लाभ भी एजेंट के माध्यम से उठाया जा सकेगा।

Leave a Comment