Google Investment in India: गूगल कर रहा है भारत में 75,000 करोड़ रुपये का निवेश, जियो के साथ मिलकर करेगा काम

Google Investment in India: हाल ही में गूगल और गूगल की पेरेंट कम्पनी के सीईओ सुंदर पिचाई ने अपने एक ट्वीट के जरिये बताया कि वह भारत में अगले कुछ सालो में काफी बड़ा अमाउंट इंवेस्ट करने वाले हैं। यह अमाउंट करीब 75 हजार करोड़ होगा। लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि इस अमाउंट में से अधिकतर मुकेश अम्बानी के पास ही जाने वाला है।

गूगल ने खरीदी जियो की हिस्सेदारी

जियो इस समय दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती हुई कम्पनी में से एक है। अगर बिजनेस के नजरिये से देखा जाए तो यह एक प्रॉफिटेबल कम्पनी भी है। यही कारण है कि पूरी दुनिया की बड़ी बड़ी कंपनियों की नज़र जियो की तरफ है। अब तक कियो 1.52 लाख करोड़ की हिस्सेदारी बेच चुका है। इन कम्पनियों की लिस्ट में गूगल भी काफी आगे है।

दरअसल गूगल ने जियो प्लेटफार्म की करीब 7.7% हिस्सेदारी खरीद ली है। इस हिस्सेदारी की कीमत 33,737 करोड़ रुपये है। बता दें कि गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई और  रिलाइंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमेन मुकेश अम्बानी ने एजीएम के जरिये इसकी घोषणा की।

फेसबुक भी कर चुकी है बड़ा निवेश

वैसे तो जियो की अब तक 32.94 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक चुकी है लेकिन हिस्सेदारी खरीदने के मामले में सबसे आगे गूगल और फेसबुक ही है। जियो में फेसबुक का इन्वेस्टमेंट गूगल से भी बड़ा है। दरअसल फेसबुक ने जियो की 43,574 करोड़ में 9.99% शेयर्स खरीद लिए हैं देश के सबसे बड़े बिजनेसमैन मुकेश अम्बानी जियो के शेयर बेचकर अब तक 1.71 लाख करोड़ रुपये कमा चुके हैं।

फेसबुक और गूगल के अलावा सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला जैसी कंपनियों ने भी जियो की हिस्सेदारी खरीदी है।

गूगल कर सकता है जियो में और इन्वेस्ट

दरअसल इस समय जो माहौल चल रहे हैं उसके अनुसार यह कहना मुश्किल नहीं है कि गूगल जियो में अधिक इन्वेस्ट कर सकता है। दरअसल जियो और गूगल साथ में मिलकर जियो की अन्य टेक्नोलॉजीस पर काम कर सकते हैं। संभावनाएं है की दोनों कंपनियां मिलकर स्मार्टफोन इंडस्ट्री में भी एक नई शुरुआत कर सकती है।

इन क्षेत्रों में करेगी गूगल इन्वेस्ट

गूगल दुनिया की सबसे बड़ी टेक्निकल या फिर कहें तो डिजिटल कंपनियों में से एक है। भारत में भी गूगल टेक्नोलॉजी के फील्ड में ही इन्वेस्ट करने वाली है। दरअसल गूगल भारत में इक्विटी इनवेस्टमेंट, पार्टनरशिप और ऑपरेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर के जरिये इन्वेस्ट करने वाला है। सुंदर पिचाई का मानना है कि गूगल की इन्वेस्टमेंट भारत के डिजिटलीकरण में भी मदद करेगी।

Leave a Comment