कोरोना काल में नौकरी गंवाने वालों को अब मिलेगा बेरोजगारी भत्ता, 3 महीने तक दी जाएगी आधी सैलरी, जानें नियम और शर्तें!

Unemployment News: कोरोनावायरस की महामारी के कारण दुनिया में कई लोगों की नौकरी छिन गई है। जहां अमेरिका में सबसे अधिक नौकरी जाने का रिकॉर्ड दर्ज किया गया है, तो वहीं भारत में स्थिति अन्य कई विकसित देशों के मुकाबले अच्छी है। इसका मुख्य कारण शायद भारत में कम डिजिटाइजेशन का होना है। लेकिन भारत में भी कई लोगों ने Covid-19 की वजह से अपनी नौकरियां गवाई है। ऐसे में अब बेरोजगारों की संख्या पहले से भी अधिक हो चुकी है, लेकिन सरकार ने इन लोगों की आर्थिक स्थिति बेहतर बनाने के लिए इन्हें बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा की है।

ESIC से जुड़े लोगों को मिलेगा बेरोजगारी भत्ता

केंद्र सरकार के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार सरकार की इस योजना का फायदा केवल उन्हीं लोगों को मिलेगा जिन की नौकरियां 24 मार्च से लेकर 31 दिसंबर 2020 तक गई है। लेकिन यह बेरोजगारी भत्ता केवल उन्हीं लोगों को मिल पाएगा, जो ईएसआईसी यानी कि वर्कर्स एंप्लॉयी स्टेट इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन से जुड़े हुए हैं। जो लोग ईएसआईसी से जुड़े हुए नहीं हैं, और उनकी नौकरी चले गई है, उन्हें इस बेरोजगारी भत्ते का फायदा नहीं मिल पाएगा। बता दें कि इम्प्लॉइज को अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के जरिये बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। इस योजना को 31 जून 2021 तक बढा दिया गया है।

2 साल से जुड़े हुए वर्कर्स को ही मिलेगा फायदा

हाल ही में सूत्रों से यह जानकारी प्राप्त हुई है कि सरकार के द्वारा दिए जा रहे इस बेरोजगारी भत्ते का लाभ केवल उन्हीं लोगों को मिलेगा, जो वर्कर्स एम्पलाई स्टेट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन से पिछले 2 साल से जुड़े हुए हैं। यानी कि अगर कोई वर्कर 1 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2020 तक वर्कर्स एम्पलाई स्टेट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन से जुड़ा हुआ था, तो उसे इस योजना का लाभ मिल सकेगा। इस समय अंतराल के बीच वर्कर का कम से कम 78 दिन एक्टिव होना जरुरी हैं।

Unemployment News

90 दिनों तक भत्ते का फायदा उठा सकेगा बेरोजगार

प्राप्त जानकारी के अनुसार जो व्यक्ति कोरोना महामारी के बीच बेरोजगार हुआ है, वह अधिक से अधिक 90 दिनों तक बेरोजगारी भत्ते का लाभ उठा सकेगा। इस बेरोजगारी भत्ते के लिए या फिर कहें तो बेरोजगार होने पर मुआवजे के लिए उसे अपनी सैलरी का 50% तक मिल सकता है। पहले यह क्लेम सीमा 25% तक थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 50% तक कर दिया गया है। पहले बेरोजगार होने के 90 दिनों बाद ही इस योजना का लाभ उठाया जा सकता था, लेकिन अब बेरोजगार होने के 30 दिनों बाद बेरोजगारी भत्ता शुरू किया जा सकता है।

35 लाख से अधिक लोगों को मिलेगा फायदा

सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम का सबसे अधिक फायदा उन लोगों को होगा जो इंडस्ट्रियल फील्ड में थे। इंडस्ट्रियल फील्ड के वर्कर्स को इस योजना के चलते बड़ी राहत मिली है। काफी लोगों की नौकरी चली गई और काफी सारे ऐसे भी लोग हैं जिनकी नौकरी जल्द ही जा सकती है। ऐसे में बेरोजगारी भत्ते की इस योजना से लोगों को थोड़ी राहत तो मिल सकेगी, जब तक वह दूसरी नौकरी ना ढूंढ ले। ESIC बोर्ड की तरफ से वी राधाकृष्ण का कहना है कि इससे करीब 35 लाख वर्कर्स को फायदा मिलेगा।

Leave a Comment