केरल में जबरदस्त बारिश: 20 से ज्यादा घर बह गए, 15 की मौत, 60 से ज्यादा के फसे होने की सम्भावना

Heavy Rain in Kerala: केरल के इडुक्की जिले में भारी बारिश के कारण भूस्खलन हुआ जिसमें 15 से अधिक लोगों की मौत हो गई। यह इलाका मशहूर टूरिस्ट प्लेस मुन्नार से 25 किलोमीटर तक दूर हैं। वैसे तो करीब 12 लोगों को बचा लिया गया है लेकिन भूस्खलन के परिणामस्वरूप 60 से अधिक लोगों के अब भी फंसे होने की आशंका है।

सूत्रों से प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार जिस स्थान पर भूस्खलन हुआ वहाँ एक मजदूरो की कॉलोनी निवास कर रही थी। इस कॉलोनी के अधिकतर लोग चाय के बागानों में काम करने वाले मजदूर थे। यह पूरी कॉलोनी भूस्खलन की चपेट में आ गयी और देखते ही देखते 20 से ज्यादा घर बह गये। इनमें से अधिकांश मजदूर तमिलनाडु से थे।

एक तेज आवाज के साथ सबकुछ खत्म

एक गवाह के अनुसार भूस्खलन के समय अचानक से तेज आवाज आयी। उसके बाद लोगों की आवाज सुनाई देने लगी लेकिन सब कुछ खत्म हो गया था। लोग पानी और मलबे में बहते हुए जा रहे थे। वह अपने बचाव के लिए लगातार चिल्ला रहे थे। काफी लोग मलबे के नीचे दब गए थे। आपदा में फसे एक दीपक नाम के व्यक्ति ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि उनके पिता और पत्नी गायब है और उनकी माँ की हालत भी नाजुक है। साथ में उनके आँखों में भी गहरी चोट लगी है।

जान गवाने वाले व्यक्तियों के परिवार को मिलेंगे 2-2 लाख रुपये

इस हादसे के तुरंत बाद प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस पर ट्वीट किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे को लेकर ट्वीट किया कि  “इडक्कू के राजमलाई में जान गवाने वाले व्यक्तियों के परिवार को 2-2 लाख रूपये की राशि और घायल व्यक्तियों को 50 हजार रूपये की राशि राहत धन के तौर पर पीएम रिलीफ फंड से दिए जाएंगे। मेरी संवेदनायें पीड़ित परिवारों के साथ हैं”।

नहीं थम रही बारिश

केरल के कई भागों में पिछले 4 दिन से लगातार जबरदस्त बारिश हो रही है। इस वजह से राजमाला इलाके का पुल भी टूट गया है जिसके कारण इलाके में घुसने में दिक्कत आ रही है। पुल टूटने की वजह से बचाव के काम में धीमापन आ रहा है। अधिकारियों  ने बताया कि वह अब तक 10 लोगों को रेस्क्यू कर पाए है।

अब तक धुंधले हैं आंकड़े

केरल के राजस्व मंत्री चंद्रशेखरन की मानें तो उस इलाके में करीब 80 लोग रहते है। अब तक यह पता नहीं चला है कि आपदा के समय पर वहाँ कुल कितने लोग थे। मौसम के अधिक खराब होने की वजह से आपदाग्रस्त स्थान पर रेस्क्यू हेलीकॉप्टर उड़ाना भी मुश्किल है। यानी कि इस समय आंकड़े धुंधले नज़र आ रहे हैं। इसी के साथ एक खबर यह भी आ रही है कि जिले के पंडालम के पास एक छोटा हाथी भी मरा हुआ पाया गया हैं।

11 अगस्त तक इन जिलो में होगी जबरदस्त बारिश

केरल के मौसम विभाग के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार केरल में 11 अगस्त तक मलप्पुरम, एर्नाकुलम, त्रिसूर, वायनाड, इडुक्की जिलों में भारी बारिश होगी। एनडीआरएफ का कहना हैं की राज्य में पिछले 3 दिनों में 2 हजार से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू किया गया है।

Leave a Comment