Covid-19 Vaccination FAQs In Hindi: ये हैं कोरोना वैक्सीन और टीकाकरण से जुड़े हर सवाल का जवाब जिन्हें आप जरूर जानना चाहेंगे!

Covid-19 Vaccination FAQs In Hindi: भारत में शनिवार 16 जनवरी से कोरोना वायरस के खिलाफ दुनिया दुनिया बड़ा टीकाकरण अभियान (Covid-19 Vaccination) आरम्भ कर दिया है। टीकाकरण के पहले चरण में एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों और दो करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। दूसरे चरण की वैक्सीनेशन प्रक्रिया में 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का टीकाकरण किया जायेगा। देश भर में कुल 3006 वैक्सीनेशन सेंटर्स पर पहले तीन दिन लाख लोगों को टीका लगाया जायेगा। कोरोना के टीकाकरण को लेकर कई लोगों लोगों के मन में तरह तरह के सवाल उठ रहे हैं जैसे, “क्या कोरोना का टीका लगाना सबको अनिवार्य है?”, “कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद कोई साइड इफ़ेक्ट तो नहीं आएगा?” “टीकाकरण के लिए कब आएगा नंबर? ” आदि तो यहाँ आज इस लेख के माध्यम से हम आपके कोरोना वैक्सीन और टीकाकरण से जुड़े इन्हीं सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे।

Covid-19 Vaccination FAQs

कोरोना टीकाकरण की तारीख क्या है?

देश भर में 16 जनवरी 2021 से बड़े पैमाने में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया गया है। प्रधानमंत्री जी ने शनिवार को सुबह 10.00 बजे कोरोना टीकाकरण अभियान को हरी झंडी दिखाई।

कोरोना का टीका पहले किसको लगेगा?

पहले चरण के टीकाकरण में कोरोना की वैक्सीन हेल्थ वर्कर्स जैसे डॉक्टर, वार्ड बॉय, नर्स, सफाई कर्मचारी, सेना और डिजास्टर मैनेजमेंट के वॉलिंटियर आदि को दी जाएगी।

टीकाकरण के पहले दिन कितने लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी गई?

देश भर में टीकाकरण अभियान के लिए कुल 3006 टीकाकरण सेंटर्स गठित किये गए हैं। हर सेंटर पर 100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। पहले दिन के टीकाकरण में करीब 3 लाख लोगों को कोरोना का टीका दिया गया।

कोरोना की वैक्सीन की कितनी कीमत देनी पड़ेगी?

पहले चरण के Vaccination का भुगतान भारत सरकार ने स्वयं करने का निर्णय किया है। इसका मतलब साफ़ है कि पहले चरण के 3 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त में दी जाएगी।

क्या कोरोना की वैक्सीन खुले बाजार में भी उपलब्ध कराई जाएगी?

पहले चरण की टीकाकरण प्रक्रिया पूरी होने से पहले वैक्सीन बाजार में उपलब्ध नहीं होगी। सरकार ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन को केवल एमर्जेन्सी इस्तेमाल की इजाजद दी है। ऐसे में बिना अनुमति के यह बाजार में उपलब्ध नहीं हो सकेगी।

राज्यों को किस आधार पर वैक्सीन मिलेगी?

सभी राज्यों को कोरोना वायरस की तीव्रता को देख कर वैक्सीन दी जाएगी। जिन राज्यों में वायरस का असर ज्यादा होगा वहां वैक्सीन की खुराक मिलेगी।

क्या कोरोना वैक्सीन सुरक्षित है?

जी हाँ, कोरोना वैक्सीन पूर्ण तौर पर सुरक्षित है। इसकी सुरक्षा और प्रभावकारिता को मध्यनजर रख कर ही राष्ट्रीय नियामक से मंजूरी मिलने के बाद ही टीकाकरण किया जा रहा है।

क्या कोरोना की वैक्सीन लेना सभी को अनिवार्य है?

हालांकि कोरोना का टीकाकरण स्वैच्छिक है। परन्तु अपनी और दूसरों की सुरक्षा के लिए सभी को वैक्सीन की दोनों डोज लगवानी चाहिए।

कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद किन बातों का रखें ध्यान?

रिपोर्टों के अनुसार कोरोना का टीका लगाने के 30 मिनट तक वहीँ आराम करना होगा। यदि वैक्सीन लगाने के बाद बेचैनी या कोई अन्य परेशानी का सामना करना पड़े तो स्वास्थ्य अधिकारी, आशा या एएनएम को इसकी जानकारी दे सकते हैं। इसके अलावा हाथ की सफाई, मास्क पहनना, शारीरिक दूरी जैसे नियमों का भी पालन करना अनिवार्य होगा।

कोरोना वैक्सीन का दूसरा टीका कब लगवाना होगा?

कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद दूसरा टीका 14-21 दिनों के अंतराल पर ही लगवा सकते हैं।

कोरोना वैक्सीन के संभावित साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

कोविडशिल्ड वैक्सीन लगाने के बाद कुछ लोगों में सिरदर्द, बदनदर्द, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द देखा जा सकता है जो अस्थाई होंगे। जबकि कोवैक्सीन वैक्सीन लगाने के बाद दर्द, उल्टी, पसीना, खांसी-जुकाम, सिरदर्द, बदनदर्द, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द देखा जा सकता है। हालांकि भारत बायोटेक का दावा है कि फेज 1 और 2 के ट्रायल में कोई भी साइड इफेक्ट नहीं आए हैं।

क्या संक्रमित व्यक्ति कोरोना वैक्सीन लगवा सकता है? 

नहीं, संक्रमित मरीज रिकवर होने के 14 दिनों के बाद ही Coid-10 Vaccine लगा पायेगा।

क्या दूसरी डोज में अन्य कंपनी की कोरोना वैक्सीन लगवा सकते हैं?

नहीं, दूसरी कोरोना वैक्सीन की डोज के लिए आप दूसरी कंपनी की वैक्सीन नहीं लगवा सकते हैं। अगर आपको पहले कोवैक्सीन लगी है तो 14 दिनों बाद दूसरी खुराक में भी वही कोवैक्सीन ही लगवानी होगी।

टीकाकरण की तारीख की जानकारी कहां से प्राप्त करें?

लाभार्थी को टीकाकरण के लिए पंजीकरणकराना अनिवार्य है, ऑनलाइन पंजीकरण के बाद लाभार्थियों को पंजीकृत मोबाइल नंबर में टीकाकरण की तारीख, समय, और स्थान को लेकर एसमएस प्राप्त होगा।

टीकाकरण के पंजीकरण के लिए किन दस्तावेजों की जरुरत है?

टीकाकरण के लिए अपना कोई भी पहचान पत्र (जैसे कि आधारकार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मनरेगा जॉबकार्ड, बैंक या पोस्ट आफिस का फोटो लगा पासबुक आदि) दिखाना होगा।

डिस्क्लेमर: इस लेख में निहित जानकारी विभिन्न माध्यमों, सोर्सेज और वेबसाइट से संग्रहित कर आप तक पहुंचाई गई है। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें।

Leave a Comment