US Presidential Election 2020: जानें कैसे होता है दुनिया के सबसे ताकतवर नेता अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव

US Presidential Election 2020: आज के दिन यानी की 3 नवम्बर को विश्व के सबसे ताकतवर लीडर का चुनाव होना हैं। आज अमेरिका में चुनाव है। अमेरिका के राष्ट्रपति के चुनावों को विश्व के सबसे बड़े और महत्वपूर्ण चुनावों में से एक माना जाता है क्योंकि अमेरिका का राष्ट्रपति विश्व का सबसे ताकतवर नेता होता है। आज होने वाले चुनावों से यह तय होगा कि इस बार अमेरिका का राष्ट्रपति और विश्व का सबसे ताकतवर नेता कौन बनेगा। पूरी दुनिया की नज़र राष्ट्रपति चुनाव पर बनी हुई है। भारत की तरह अमेरिका भी एक लोकतांत्रिक देश है, लेकिन अमेरिका की चुनाव प्रणाली भारत से थोड़ी जटिल है। आइये अमेरिका की चुनाव प्रणाली को समझते हैं और जानते हैं कि ‘अमेरिका में राष्ट्रपति कैसे बनता हैं’?

US Presidential Election 2020 Eligibility: अमेरिका में राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने के लिए योग्यताएँ

अमेरिका में राष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया संविधान के दूसरे अनुच्छेद के पहले खंड में किया गया है। अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव केवल एक अमेरिकन ही लड़ सकता है जो कि अमेरिका में पैदा हुआ हो और अमेरिका का नागरिक हो। अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के लिए उम्मीदवार की उम्र कम से कम 35 वर्ष होना आवश्यक है। इसके अलावा चुनाव लड़ने वाला उम्मीदवार पिछले 14 साल से अमेरिका का स्थाई नागरिक होना चाहिए।

US Presidential Election 2020

US Presidential Election 2020 Polls: इस तरह से शुरू होती है अमेरिका की चुनाव प्रक्रिया

अमेरिका की चुनाव प्रक्रिया भारत के मुकाबले थोड़ी जटिल प्रतीत होती है। अमेरिका में 2 राजनीतिक दल रिपब्लिकन पार्टी और डेमोक्रेटिक पार्टी हैं। चुनावों के दौरान दोनों पॉलिटिकल पार्टी अपने-अपने उम्मीदवारों को खड़ा करती हैं। राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनने के लिए एक लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। पार्टी का उम्मीदवार कौन होगा इसका निर्धारण जनता या फिर पार्टी के अन्य सदस्य मिलकर करते हैं। देशभक्ति का पॉलिटिकल पार्टी में सबसे ज्यादा प्रभाव रहता है वह उम्मीदवार बनता है। राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने के लिए उम्मीदवारों को प्राइमरी और कॉकसिस जैसी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है।

US Presidential Election 2020 Debate: जानें क्या है नेशनल कन्वेंशन?

जब दोनों पोलिटिकल पार्टी अपने अपने उम्मीदवारों का चयन कर लेती हैं तो प्रत्याशियों के नाम की आधिकारिक घोषणा नेशनल कन्वेंशन में कर दी जाती है। रिपब्लिकन पार्टी अगस्त में और डेमोक्रेटिक पार्टी जुलाई में कन्वेंशन करती हैं। पार्टी के सर्वोच्च नेताओं के द्वारा राष्ट्रपति के पद के उम्मीदवारों की घोषणा की जाती हैं। इसी समय उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों की घोषणा भी की जाती है। नेशनल कन्वेंशन के बाद ही राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार अपने प्रचार के लिए निकलते हैं।

US Presidential Election 2020

US Presidential Election 2020 Process: इस तरह से चुना जाता है अमेरिकन राष्ट्रपति?

भारत की तरह ही अमेरिका में भी जनता अप्रत्यक्ष रूप से नेशनल लीडर का चुनाव करती है। अमेरिकी जनता की स्थानीय स्तर पर इलेक्टर का चुनाव करती है और वह इलेक्टर राष्ट्रपति के उम्मीदवारों को वोट देता है। यह प्रतिनिधि अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के प्रतिनिधि होते हैं। इन प्रतिनिधियों की संख्या 538 होती है जो सीधे जनता के द्वारा चयन किये जाते हैं। राष्ट्रपति पद के जिस उम्मीदवार को 270 से अधिक प्रतिनिधियों का समर्थन मिलता है वह राष्ट्रपति बनता है। नए साल की 20 जनवरी के दिन निर्वाचित राष्ट्रपति नए राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को शपथ दिलाता है और इस तरह से अमेरिका में राष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया संपन्न होती है।

Leave a Comment