LIC Housing Finance के शेयर्स में दिखा जबरदस्त उछाल, जानें क्या थे कारण?

LIC Housing Finance Share Rise: कोरोनावायरस के कारण पैदा हुई महामारी में शेयर मार्केट की हालत कुछ बिगड़ सी गयी है। कंपनियों को हुए भारी घाटे की वजह से कई कंपनियों के शेयर की कीमत घटी है। लेकिन हाल ही में एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (LIC Housing Finance Ltd) के शेयरहोल्डर्स के बीच खुशी देखी गई है, क्योंकि एलआईसी (LIC) के शेयर्स में मंगलवार को भारी उछाल दर्ज किया गया था। दरअसल कंपनी के द्वारा वित्त वर्ष की पहली तिमाही की रिपोर्ट जारी करने के बाद यह उछाल दर्ज किया गया है।

शुद्ध लाभ में 34 प्रतिशत तक का उछाल

हाल ही में LIC हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड ने 30 जून को अपनी वित्त वर्ष की पहली तिमाही की रिपोर्ट शेयर की। इन रिपोर्ट्स के अनुसार कंपनी ने अपने शुद्ध लाभ में 34 फीसदी तक उछाल प्राप्त किया है। बता दें कि LIC हाउसिंग फाइनेंस कंपनी लोगों को घर खरीदने के लिए लोन देने वाली भारत की सबसे बड़ी और विश्वसनीय कम्पनियों में से एक है। जीवन बीमा से शुरू हुई इस कम्पनी ने जब अपनी हाउसिंग फाइनेंस सर्विस शुरू की तब से ही कम्पनी को विश्वास के बलबूते पर अच्छी संख्या में ग्राहक प्राप्त करना शुरू कर दिया था।

बता दें कि कम्पनी ने कम प्रोविजनिंग की मदद से 30 जून को समाप्त हुई तिमाही में 34 फीसदी के उछाल के साथ लाभ प्राप्त किया था जो कि 817.48 करोड़ था।

कम्पनी के शेयर्स में 8.06 प्रतिशत तक का उछाल

हाल ही में मंगलवार को हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के शेयर्स (LICHFL Share Price) में 8.06 प्रतिशत तक का उछाल देखा गया था। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर कम्पनी के शेयर की कीमत में 8.06 फीसदी तक उछाल देखा गया और यह 299 रुपये पर आकर बन्द हुआ। अगर ट्रेडिंग की बात करें तो कम्पनी के शेयर्स में ट्रेडिंग के दौरान 11.45 फीसदी की उछाल देखी गयी जो कि  308.40 रुपये तक गयी। एनएसी पर भी कम्पनी के शेयर में 8 प्रतिशत की बढ़त हुई और 298.95 के कीमत तक गयी।

4 करोड़ से अधिक शेयर ट्रेड

अगर LIC हाउसिंग फाइनेंस लिमिटिड की ट्रेडिंग मात्रा के हिसाब से आंकड़े देखे जाए तो बीएसई पर कम्पनी के 21.07 लाख शेयर्स और एनएसई पर कम्पनी के 4 करोड़ से अधिक शेयर ट्रेड कर रहे थे। कम्पनी के वित्त वर्ष की पहली तिमाही के आंकड़े साझा करने के बाद शेयर की कीमत और ट्रेडिंग में इस प्रकार के आंकड़े देखे गए।

पिछले वर्ष में 610.68 करोड़ का था लाभ

अगर कम्पनी के पिछले वर्ष के लाभ की बात करें तो कंपनी के द्वारा शेयर की गई पिछले वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही के आकड़ों  के अनुसार टैक्स देने के बाद कम्पनी को 610.68 करोड़ का लाभ प्राप्त हुआ था। फिलहाल कम्पनी ने इस साल के टैक्स के अकड़े शेयर नहीं किये है जिससे कि टैक्स देने के बाद लाभ के आंकड़े नहीं बताये जा सकते। बता दें कि वित्त वर्ष 2020 की अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी की कुल आय बढ़कर 4,977.49 करोड़ रुपये आ गई है। रेगुलेटरी फाइलिंग की मानें तो यह एक साल पहले की समान तिमाही में 4,807.21 करोड़ रुपये थी।

प्रोविजनिंग के कारण हुई लाभ में वृद्धि 

कम्पनी के डायरेक्टर की मानें तो कम्पनी के लाभ में वृद्धि का मुख्य कारण प्रोविजनिंग है। दरअसल डायरेक्टर सिद्धार्थ मोहंते ने बताया कि ‘मुख्य रूप से प्रोविजनिंग के कारण ही लाभ में वृद्धि देखी गयी है। यह पिछली बार की तुलना में वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में कम थी।

Leave a Comment