Mutual Funds Latest News: बंद होने वाली है यह 6 बड़ी म्यूचुअल फंड स्कीम, अब क्या करेंगे निवेशक

Mutual Funds Latest News In Hindi: कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कई बड़ी मुसीबत खड़ी कर दी है। लगभग सभी सेक्टर में वायरस के कारण हुए लॉकडाउन का बुरा प्रभाव पड़ रहा है। सभी देशो की इकोनॉमी गड़बड़ा गयी है। हाल ही में म्यूचुअल फंड्स में पैसा निवेश करने वाले लोगो के लिए भी हैरान करने वाली खबर सामने आयी है। दरअसल हाल ही में फ्रेंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड (Franklin India Mutual Fund) ने गुरुवार को अपनी डेट स्कीम में से 6 स्कीम्स को बंद करने का बड़ा फैसला किया है।

मुख्य बातें

  • निवेशकों को सोच समझकर फैसला करने की जरुरत 
  • बाजार की स्थितियां और कोविड-19 का प्रभाव
  • फ्रैंकलिन असफलता का सम्पूर्ण डेट म्यूचुअल फंड के परिदृश्य पर बुरा प्रभाव पड़ने की संभावना

क्या है 6 म्यूचल फंड्स स्कीम्स को बन्द करने का कारण?

आकड़ो के अनुसार इन स्कीम्स में करीब 25,856 करोड़ रूपये का एसेट बेस है। ऐसे में कम्पनी का इन स्कीम्स को बन्द करना वाकई में हैरान करने वाला फैसला है। फ्रेंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड (Franklin India Mutual Fund) ने बताया कि कोरोनावायरस के कारण हुए लोक डाउन की वजह से निवेशकों ने तेजी से Mutual Funds से पैसा निकाला गया है। इस वजह से कम्पनी के पास पैसो की तंगी हो गयी है। ऐसे में कम्पनी को 6 डेट स्कीम्स को बन्द करने का फैसला लेना पड़ा।

बन्द होगी यह 6 म्यूचुअल फंड डेट स्कीम्स:

काफी लम्बे लॉकडाउन के कारण कम्पनी को पैसो की कमी आयी है। इस वजह से कम्पनी इन 6 म्यूचुअल फंड्स स्कीम्स को बन्द कर रही हैं:

• फ्रेंकलिन इंडिया टेम्पलटन लो ड्यूरेशन फंड
• फ्रेंकलिन इंडिया टेम्पलटन शॉर्ट बॉन्ड फंड
• फ्रेंकलिन इंडिया टेम्पलटन शॉर्ट टर्म इनकम प्लान
• फ्रेंकलिन इंडिया टेम्पलटन क्रेडिट रिस्क फंड
• फ्रेंकलिन इंडिया टेम्पलटन डायनामिक एक्यूरियल फंड
• फ्रेंकलिन इंडिया टेम्पलटन इनकम ऑपरच्यूनिटी फंड

Mutual Funds Latest News In Hindi

इससे मार्केट पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

करीब 25,856 करोड़ रूपये का एसेट बेस की म्यूचुअल फंड स्कीम्स का बन्द होना आम बात नही है। इससे मार्केट में काफी असर पड़ सकता है। कुछ आंकड़ों के मुताबिक इंडस्ट्री में अप्रेल में तेजी से रिडम्पशन (म्युचूअल फंड्स से पैसा निकालना) बढा है। अब इस घटना के बाद से निवेशक और भी ज्यादा सजक हो जाएंगे। ऐसे में निवेशक तेजी से अपना पैसा निकलेंगे। इससे मार्केट पर काफी असर पड़ेगा। इसके अलावा मार्केट में लिक्विडिटी की कमी भी आएगी।

अब क्या कर सकते हैं निवेशक?

वैसे ऐसा पहली बार नही हुआ जब कोई स्कीम्स बन्द हुई हो, जिन लोगो का पैसा इन स्कीम्स में नही लगा उन्हें कोई खास फर्क नही पड़ता। लेकिन जिन लोगो ने पैसा लगाया है, वह सोच में पड़ सकते हैं कि अब क्या करे? निवेशकों ने इनमे से किसी भी फण्ड पर पैसा लगाया है तो वह इस समय पैसे को रिडीम नही कर सकेंगे। ऐसे हालातो में जब तक फण्ड हाउस आगे भुगतान नही करता तब तक आपका पैसा फंड्स में बन्द रहता है।

कोई खास तरह की परेशानी होने पर बाजार नियामक सेबी को शिकायत की जा सकती है। शिकायत मिलने पर बाजार नियामक सेबी म्यूचुअल फण्ड कम्पनी के पास जाता है और आपके मामले को प्रस्तुत करता है। इस तरह से आपकी समस्या के समाधान की संभावनाएं बढ़ जाती है।

Leave a Comment