सेना भर्ती की नई योजना “अग्निपथ” हुई लॉन्च, सेना भर्ती के बदल गए है नियम जानिए नए नियम

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने की सेना भर्ती को लेकर अहम् घोषणा –

भारत सरकार द्वारा 14 जून को एक अहम् फैसला लिया गया है इसके अंतर्गत आने वाली तीनो सेना में अग्निपथ के तहत नए नियम लागु किये गए है इस योजना के तहत 3 महीने बाद भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस योजना के तहत पहली बार में  46 हजार युवा की भर्ती की जाएगी।

जानिए “अग्निपथ स्कीम” क्या है- 

केंद्र सरकार ने कल एक अहम् फैसला लेते हुए तीनो सेनाओ में अग्निपथ योजना लागु की गयी है, अग्निपथ योजना के तहत अब युवा को 4 साल आर्मी में सेवा देने को मौका मिलेगा इस योजना की शुरआत करने पर  राजनाथ सिंह ने कहा है की  अब देश में रोजगार बढ़ेगा अब युवाओ को सेवा देने का बेहतरीन मौका मिलेगा राजनाथ सिंह ने कहा है की अब भारतयी सेना पहले से ज्यादा मजबूत किया गया है।

इस योजना में भर्ती होने के लिए युवा को 17 साल से 21 साल क आयु सीमा तय की गयी है भर्ती प्रक्रिया पुरानी प्रिक्रिया के तहत होगी, इस योजना के तहत 100% युवा में से 4 साल तक अपनी नौकरी करने के बाद 75% ड्यूटी मुक्त कर दिया जायेगा, 25% योग्यता के अनुसार आगे मौका दिया जाएगा  इस भर्ती के योजना के अंतर्गत ये तब तक चालू रहे गई जबतक खली पदों की पूर्ति नहीं जाएगी, सरकार का कहना है,की जो जवान अग्निपथ से ड्यूटीमुक्त होंगे उन जवानो को सहस्त्र सिमा बल और अन्य सरकारी नौकरी में वरीयता दी जाएगी। 

सेना भर्ती की नई योजना “अग्निपथ” हुई लॉन्च, सेना भर्ती के बदल गए है नियम जानिए नए नियम

जानिए अग्निपथ योजन में वेतन कितना दिया जाएगा-

इस योजना के भर्ती तहत होने वाले जवानो को वेतन बीमा आदि वरीयता दी जाएगी, इस योजना में जवानो के वेतन इस प्रकार दिया जाएगा, प्रथम वर्ष में हर  महीने के 30000 तय किए गए लेकिन 21000 का ही भुगतान किया जायेगा, दूसरे वर्ष हर महीने के 33000 तय किये गए है लेकिन 23100 का ही भुगतान किया जायेगा, तीसरे वर्ष हर महीने के 36000 तय किया गया लेकिन भुगतान 25580 का किया जायेगा चौथे वर्ष में हर महीने के 40000 की राशि तय की गयी है लेकिन 28000 का है, भुगतान किया जाएगा, जो वेतन में से 30% राशि अग्निपथ वीर फण्ड में जमा होगा। 

इस काटी गयी राशि का भुगतान जब अग्निवीर सेवा मुक्त होगा तब ब्याज सहित दी जाएगी,जो राशि 11.71 लाख होगी।

जो इस भर्ती के तहत जवानो की भर्ती होगी तो उनमे से जो दसवीं पास होगा तो उसे बाहरवीं भी पास करवाई जाएगी इन नौजवानो को अग्निवीर कहा जायेगाबी इन्हे छः माह की तैयारी करवाई जाएगी 

यदि कोई अग्नि वीर शहीद हो जाता है तो सेवा निधि के तौर पर एक करोड से अधिक राशि ब्याज समेत दी जाएगी इसके अलावा जितनी नौकरी बची है उसका वेतन भी दिया जायेगा, यदि दिव्यांग हो जाता है चवालीस लाख रुपए दिए जायेगे बची हुई नौकरी का वेतन दिया जाएगा |

इस योजना के तहत गृहमंत्री अमित शाह ने की घोषणा की  जवानो को नौकरी में वरीयता दी जाएगी-

गृहमंत्री अमित शाह ने घोषणा की है की अग्निवीरो के लिए चार वर्ष सेवा देने के बाद सेंट्रल आर्म्ड पुलिस की भर्ती में वरियात दी जाएगी, इनमे से एनएसजी, एसएसबी, सीआरपीएफ, आईटीबीपी, बीएसएफ और सीआईएसएफ इनमे भी वरीयता दी जाएगी, अधिकारियो और रक्षा विशेषज्ञों का कहना है की इस प्रिक्रिया से पैरा फ़ोर्स को भी फायदा मिलेगा सेना सेवा के पद मुक्त होने के बाद बेरोजगार नहीं घूमेगे। अलग अलग राज्यों ने भी की अग्निवीरो वरीयता देने घोषणा की है। 

सेना में अफसर बनने का मिलेगा मौका –

केंद्र सरकार ने कहा है की अग्निवीर जब सेवा मुक्त हो जाएगे उसके बाद अफसर बने के रास्ते खुल जायेगे। ऐसे जवान जो अपनी पढाई पूरी करने के बाद  सीडीएस,शॉर्ट सर्विस के जरिये सेना में अधिकारी बन सकते है साथ में सिविल सर्विसेज में वरियात देने की घोषणा की है। 

अग्निवीरो को पदमुक्त होने के बाद यहाँ यहाँ पर मौका मिलेगा- 

केंद्र सरकार की नौकारीयो वरीयता दी जाएगी, असम सरकार ने घोषाणा की है की अग्निवीरो को असम राइफल्स में वरीयता दी जाएगी, मध्यप्रदेश सरकार ने भी एमपी पुलिस में वरीयता  देने की घोषणा की है, भाजपा नेताओ का कहना है की जो बीजेपी शासितराज्यों में अग्निवीरो को ज्यादा वरीयता दी  जाएगी |

ये भी पढ़े- किसान पेंशन योजना : किसान पेंशन योजना, हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जानिए पीएम किसान पेंशन योजना का लाभ कौन कौन ले सकता है

Leave a Comment