Ram Mandir Trust Meeting: जानिए कब और कैसे होगा राम मंदिर का शिलान्यास, 161 फिट तक ऊँचा होगा मंदिर

Ram Mandir Trust Meeting: पिछले कई सालों से राम मंदिर का विवाद चल रहा था। देश में कई राजनीतिक दल इसको लेकर गंदी राजनीति भी कर रहे थे। लेकिन आखिरकार राम मंदिर पर कोर्ट ने अपना फैसला दे दिया और मन्दिर बनाने का काम भी शुरू हो गया। पिछले कुछ समय से रामभक्त शिलान्यास को लेकर चिंतित थे लेकिन अब शिलान्यास की तारीख कन्फर्म कर दी गयी है। दरअसल हाल ही में अयोध्या में रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक की गयी और इस बैठक में शिलान्यास की तारीख पर चर्चा की गयी।

3 या 5 अगस्त को होगा मंदिर का शिलान्यास

राम मन्दिर के निर्माण और संचालन के लिए बनाया गया रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने मीडिया को सूचित किया कि राम मंदिर के शिलान्यास के लिए 3 और 5 अगस्त की तारीख पीएमओ को भेजी गयी है। कामेश्वर चौपाल ने बताया कि पीएमओ की अनुमति के बाद ही अंतिम निर्णय लिया जाएगा। बता दें कि ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्यगोपाल प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को अयोध्या आने का निमंत्रण पत्र भी भेज चुके हैं।

राम मंदिर के स्वरूप पर भी हुई चर्चा

राम मंदिर बनने का पूरी दुनिया बेसब्री से इंतजार कर रही हैं। ऐसे में राम मंदिर का बेहतरीन स्वरूप तैयार करना ट्रस्ट की जिम्मेदारी है। ट्रस्ट के द्वारा की गयी बैठक में राम मन्दिर के स्वरूप पर भी लंबी चर्चा की गयी। सदस्यों के द्वारा यह बात बताई गयी है कि इस राम मन्दिर की उचाई 161 फिट तक होगी। इस मन्दिर में करीब 5 गुम्बद बनाये जाएंगे। बता दें कि इस बैठक में राम मन्दिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र सिंह समेत 12 सदस्य शामिल हुए।

3 से साढ़े 3 साल में तैयार होगा मन्दिर

श्री रामजन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के सेक्रेटरी ने मीडिया से बातचीत के दौरान राम मन्दिर से जुड़ी कई अहम जानकारियां दी है। उन्होंने बताया कि राम मन्दिर का फंड कलेक्ट होने के बाद और स्ट्रक्चर तैयार होने के बाद मन्दिर बनाने के लिए करीब 3 से साढ़े 3 साल का समय लगेगा। उन्होंने कहा कि मन्दिर के निर्माण के लिए 4 लाख इलाकों में रहने वाले परिवारों से फंड्स इकट्ठा किया जाएगा।

बैठक में हुई इन मुद्दों पर बातचीत

राम मन्दिर के निर्माण की जिम्मेदारी श्री रामजन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट पर है। ऐसे में उन्हें मन्दिर के निर्माण में कोई भी कमी नहीं छोड़नी है। बैठक में शामिल हुए सदस्यों ने बताया कि मन्दिर निर्माण से जुड़ी इस बैठक में मन्दिर निर्माण की शिलान्यास की तारीख, प्रधान मंत्री को भूमि पूजन के लिए आमन्त्रण, मुख्य गर्भग्रह की संरचना, परिसर में सीता माता के मन्दिर का निर्माण, 70 एकड़ के परिसर को 108 एकड़ में विस्तार करने पर सहमति आदि मुद्दों पर चर्चा की गयी है।

Leave a Comment