शुरू करें यह बिजनेस और कमाए लाखों रुपये, केंद्र सरकार भी करेगी सहयोग, जानिए कैसे?

Start honey business, honey mission: भारत का आत्मनिर्भर बनने का सपना ही भारत को विकसित देशो की लिस्ट में शामिल कर सकता है। पिछले कुछ सालों में कुछ भारतीय कम्पनियों जैसे की पतंजलि आदि ने काफी अच्छी सफलता भी हासिल की है लेकिन अब भी मुख्य रूप से विदेशी कम्पनियों का ही बोल-बाला है। ऐसे में देश में इस समय केंद्र सरकार लोकल मैन्युफैक्चरिंग, लोकल प्रोडक्ट्स और छोटे उद्योगों पर ध्यान दे रही है।

भारत के लोकल बिजनेस ही भारत के आत्मनिर्भर बनने के सपने को पूरा कर सकते हैं। सरकार इस समय खादी के अलावा भी अन्य कई ग्रामीण उद्योगों को बढ़ावा दे रही है। अगर आप चाहे तो इससे अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं। इसके लिये हनी बिजनेस यानी की शहद का व्यवसाय काफी फायदेमंद रहेगा। सरकार पिछले 2 सालो में किसानों और बेरोजगार लोगों को शहद व्यवसाय (मधुमक्खी पालन) के लिए एक लाख से भी अधिक बक्से दे चुकी है। यह वितरण ‘हनी मिशन’ के तहत किया गया था।

आखिर क्या है हनी मिशन?

हनी मिशन ग्रामोद्योग विभाग के द्वारा शुरू गयी एक योजना है। इस योजना के तहत किसान और रोजगार प्राप्त करने की चाह रखने वाले ग्रामीण लोग हनी मिशन में भाग लेकर यानी की मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करके मोटी कमाई कर सकते हैं। अब ऐसी तकनीक भी उपलब्ध है जिससे शहद निकलते दौरान मधुमक्खियों को कोई नुकसान नहीं होता है। मधुमक्खी पालन से न केवल शहद बल्कि मां और पॉलन भी मिलता है। ऐसे में यह किसानों के अलावा बेरोजगार युवाओं के लिए भी एक बेहतरीन बिजनेस साबित हो सकता है।

सरकार भी करेगी सहयोग

अगर आप हनी मिशन में भाग लेते हो और इस योजना के तहत हनी प्रोसेसिंग प्लांट लगाना चाहते हो और आधुनिक तकनीक से मधुमखी पालन करना चाहते हो तो सरकार भी इसमें आपकी मदद करेगी। आपको इस बिजनेस को शुरू करने के लिए विभाग की तरफ से 65 प्रतिशत लोन मिल जाता है और खादी भी 25 प्रतिशत तक सब्सिडी देता है। यानी की आपको शुरुआत में केवल 10 प्रतिशत इन्वेस्ट करने की जरूरत है।

मिल जाएगा 16 लाख तक का बड़ा लोन

इस योजना के तहत अगर आप 20 हजार किलोग्राम सालाना शहद के लिए प्लांट लगाना चाहते हैं तो इसमें करीब 24.50 लाख की इन्वेस्टमेंट की आवश्यक है। इस 24.50 लाख के खर्च में से आपको 16 लाख तक का लोन मिल जाता है। मार्जिन राशि के रूप में भी 6.15 लाख रुपये मिल जाते हैं। ऐसे में इंवेस्टमेंट केवल 2.35 लाख की होती है। ऐसे में यह एक प्रॉफिटेबल बिजनेस है।

हर महीने हो सकती है 1 लाख तक की मोटी कमाई

योजना के तहत अगर एक साल में 20 हजार किलोग्राम शहद तैयार किया जाता है जिसकी कीमत 250 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से लगाई जाती है तो सालाना बिक्री 48 लाख तक की हो सकती है। अगर इसमें होने वाले सभी खर्च यानी की करीब 35.15 लाख रुपये को अलग कर दिया जाए तो भी 13.85 लाख रुपये का प्रॉफिट है। यानी की हर महीने 1 लाख से भी अधिक की मोटी कमाई होती है।

Leave a Comment