Dil Bechara Movie: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फ़िल्म ‘दिल बेचारा’ को मिली आईएमडीबी पर 10/10 रेटिंग, पढ़ें फिल्म की कहानी!

Dil Bechara Movie IMDB Rating: सुशांत सिंह राजपूत और संजना सांघी की फिल्म ‘दिल बेचारा’ 24 जुलाई को रिलीज हो गई है। इस फिल्म का निर्देशन मुकेश छाबड़ा ने किया है। फिल्म को देखकर फैंस भी काफी भावुक नजर आ रहे हैं। फिल्म की कहानी भी काफी भावुक कर देने वाली है। संजना सांघी बतौर लीड एक्ट्रेस इस फिल्म से अपना डेब्यू कर रही है। हालांकि बतौर एक्ट्रेस संजना सांघी की यह फिल्म नहीं है इससे पहले वो सपोर्टिंग रोल और बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट कैमरे पर भी वो नजर आ चुकी हैं। इसके अलावा फ़िल्म में स्वास्तिका मुखर्जी, शाश्वत चटर्जी और साहिल वेद भी अहम भूमिका में हैं।

आईएमडीबी ने दी 10/10 रेटिंग

सुशांत सिंह राजपूत की यह फिल्म थिएटर्स में रिलीज़ होने वाली थी, परन्तु कोरोना वायरस महामारी की वजह से यह डिज़्नी प्लस और हॉटस्टार पर स्ट्रीम हुई। फ़िल्म रिलीज़ के बाद से ही फैंस काफी इमोशनल दिख रहे हैं। वह लगातार सोशल मीडिया पर फ़िल्म के डायलॉग्स और स्क्रीन शॉट्स भी शेयर कर रहे हैं। इसके अलावा आईएमडीबी भी रेटिंग को 10 पहुंचाने की कोशिश में लगे हुए हैं। इस समय इस फिल्म की आईएमडीबी रेटिंग 9.8 है। कुछ फैंस ख़राब रेटिंग देने वालों को भी ट्रोल कर रहे हैं।

https://twitter.com/Kangana_Ra/status/1286715158312583168?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1286715158312583168%7Ctwgr%5E&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.jagran.com%2Fentertainment%2Fbollywood-sushant-singh-rajput-last-film-dil-bechara-made-record-on-imdb-with-10-out-of-10-rating-20552315.html

इमोशनल है फिल्म की स्टोरी

‘दिल बेचारा’ फिल्म की स्टोरी की बात करें तो इसमें दो कैंसर पेशेंट्स किजी (संजना सांघी) और मैनी (सुशांत सिंह राजपूत) की कहानी दिखाई गयी है। दोनों ही अलग-अलग कैंसर से पीड़ित हैं। दोनों की मुलाक़ात कैंसर हॉस्पिटल में होती है। इसी समय  मैनी किजी को दिल दे बैठता है और उसे अप्रोच करने लगता है। किजी को लगता है कि वह अब कुछ दिनों की मेहमान है इस वजह से वो मैनी से दूरी बना लेती है। परन्तु बाद में उसे मैनी की जिद के आगे हार माननी पड़ती है। मैनी जहाँ खुशमिजाज और चुलबुला शख्स है तो वहीँ किजी थोड़ा खुद में समिटी हुई सी है। लेकिन मैनी धीरे-धीरे उसे जिंदगी की ताल में नाचना सीखा देता है। इसके बाद फिल्म की कहानी में सिंगर अभिमन्यू वीर (सैफ अली खान) की एंट्री होती है। अभिमन्यू स्क्रीन पर तो कुछ ही समय के लिए दिखते हैं लेकिन फिल्म में उनका जिक्र शुरू से लेकर आखिर तक होता है।

फिल्म में हैं दिल को छू लेने वाले डायलॉग्स

‘दिल बेचारा’ फिल्म के डायलॉग्स भी काफी फेमस हो रहे हैं, जैसे कि “जन्म कब लेना है और कब मरना है ये तो हम डिसाइड नहीं कर सकते, लेकिन कैसे जीना है ये हम डिसाइड करते हैं।”, “जब कोई मर जाता है उसके साथ जीने की उम्मीद भी मर जाती है, पर मौत नहीं आती।”,”मैं बहुत बड़े-बड़े सपने देखता हूं पर उन्हें पूरा करने का मन नहीं करता।”,”प्यार नींद की तरह होता है धीरे-धीरे आता है और फिर आप उसमें खो जाते हैं।”,”हीरो बनने के लिए पॉपुलर नहीं होना पड़ता, वो रियल लाइफ में भी होते हैं।”,”मैं एक फाइटर हूं और मैं बहुत बढ़िया तरीके से लड़ा।” और “एक था राजा, एक थी रानी, दोनों मर गए, लेकिन कहानी यहां ख़त्म नहीं होती है।”

सुशांत सिंह राजपूत के फैंस और सिनेमा प्रेमियों को सुशांत की यह फिल्म जरूर देखनी चाहिए। उनकी यह फिल्म आपको हंसते-रोते जिंदगी का फलसफा सिखाएगी। वह भले ही अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन अपने काम के जरिए वो हमेंशा फैंस के दिलों में जिंदा रहेंगे।

Leave a Comment