Insurance Under Jan Dhan Yojna: जन धन योजना से बीमा प्राप्त करने के लिए याद रखें यह खास बातें

Insurance Under Jan Dhan Yojna: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आते ही काफी सारी योजनाएं शुरू की थी जिनमें से एक प्रधानमंत्री जन धन योजना भी थी। नरेंद्र मोदी का मकसद शुरुआत से ही देश को डिजिटल और आधुनिक सुविधाओं तक पहुंचाना है और जन धन योजना के जरिए वह देश के कई लोगों को बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध करवाना चाहते थे। साल 2014 के 15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनधन योजना का ऐलान किया था और इसे 28 अगस्त से शुरू भी कर दिया गया। जनधन योजना के तहत करोड़ों लोगों को बैंकिंग सुविधा से जोड़ा गया। जनधन योजना के कई फायदे हैं जिनमें से एक फायदा यह भी है कि इस योजना के अंतर्गत आवेदकों को बीमा भी उपलब्ध कराया जाता है।

जन धन योजना में मिलता है इतना बीमा कवर

काफी सारे लोगों को पता नहीं होगी कि जन धन योजना में काफी अच्छा खासा बीमा खबर मिल जाता है। इस योजना के तहत करीब 2 लाख का दुर्घटना कवर (Accidental Insurance) और 30 हजार का लाइफ कवर मिल जाता है। यह बीमा कवर (Accidental Insurance) खाताधारक की किसी दुर्घटना में मृत्यु होने के बाद उसके परिवार धारकों को दिया जाता है। जन धन योजना में दोनों ही बीमा कवर के लिए कुछ शर्तें रखी गई है जिनके बारे में पता होना जरूरी है।

पिछले 90 दिनों में लेन-देन अनिवार्य

जन धन योजना की बीमा शर्तों के अनुसार अगर आप जन धन योजना के जरिए दी जा रही विवाह सुविधाओं का फायदा उठाना चाहते हो तो आपका जनधन खाता एक्टिवेट होना चाहिए। जनधन योजना के द्वारा निर्धारित किए गए नियमों के अनुसार आपके साथ हुए हादसे से पिछले 90 दिनों में कोई ना कोई लेनदेन होना आवश्यक है। इन लेन-देन के माध्यमो में बैंक शाखा, एटीएम, बैंक मित्र, पॉइंट ऑफ सेल या ई-कॉमर्स आदि के द्वारा किया गया लेन-देन गिना जाएगा। कुल मिलाकर अगर आप जन-धन योजना से बीमा कवर का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो अपने अकाउंट को एक्टिव रखें और समय-समय पर अपने जनधन खाते से लेन-देन करते रहें।

ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी है मौजूद

काफी सारे लोगों को यह बात याद नहीं होगी कि स्पेशल प्राइवेट बैंक के अकाउंट की तरह जनधन योजना के अकाउंट में भी ओवरड्राफ्ट की सुविधा मौजूद है। लेकिन यह सुविधा अकाउंट खुलने के 6 महीने बाद से ही उपलब्ध होती है। अगर आप नहीं जानते कि ओवरड्राफ्ट का मतलब क्या होता है तो जानकारी के लिए बता दें कि आप अपने अकाउंट से मौजूदा राशि से कुछ अधिक रुपए निकाल सकते हो जिसे बाद में जमा कर लिया जाता है।

जनधन अकाउंट में ओवरड्राफ्ट की लिमिट शुरुआत में 5 हजार तय की गई थी लेकिन इसे बाद में बढ़ाकर 10 हजार कर दिया गया यानी कि आप अपने जन धन अकाउंट खुलवाने के 6 महीने बाद से ओवरड्राफ्ट की सुविधा का लाभ उठा सकते हो जिसकी लिमिट करीब 10 हजार है। यानी की आप अपने जन धन एकाउंट से जरूरत पड़ने पर 10 हजार का इंस्टंट लोन ले सकते हो।

Leave a Comment